केले के औषधीय गुण

केला स्वादिष्ट, पौष्टिक,  मीठा , बलवर्धक तथा वीर्यवर्धक होता है | यह नेत्रदोष, कफ , रक्तपित्त, वात और प्रदर रोगों को दूर करने में बहुत लाभदायक है |

banana1

केले का लगभग हर हिस्सा जड़, तना, फूल, पत्ता,  फल और छिलका तक बहुत सी औषधियों में काम आता है | आज यहाँ मैं आपको केले के औषधीय गुणों के बारे में बता रहा हूँ जो आपके बहुत काम आ सकते हैं |

केले के औषधीय गुण

केला निम्न रोगों को दूर करने में लाभदायक है

गैस , एसिडिटी और कब्ज
केले को चीनी के साथ मिलाकर नियमित रूप से खाने से गैस, एसिडिटी, कब्ज और पेट के रोग दूर हो जाते हैं |

मुँह के छाले और अल्सर
केले को नियमित रूप से खाने से मुँह और पेट दोनों ही जगह के छाले और अल्सर ठीक हो जाते हैं | अल्सर के रोगियों के लिए कच्चा केला रामबाण दवा है |

पेचिश
पेचिश रोग में केले को दही में मिलाकर खाना चाहिए | पेट में जलन होने पर दही में चीनी और केला मिलाकर खाना चाहिए |

खाँसी
एक पके केले में चीरा लगाकर आठ साबुत काली  मिर्च भरकर वापस छिलका बंद करके रात भर राख दें | सुबह शौच जाने से पूर्व काली मिर्च निकालकर खा लें और ऊपर से केले को भी खा लें | इसी तरह से कुछ दिन खाने से सभी तरह की खाँसी ठीक हो जाएगी |

अगर किसी को काली खाँसी है तो केले के ताने को सुखा लें | फिर उसको जलाकर राख बना लें | अब उस राख को रोजाना शहद के साथ मिलाकर चाटने से कुछ दिनों में ही काली खाँसी जड़ से ख़त्म हो जाएगी |

जलने या कटने पर
अगर शरीर का कोई हिस्सा आग से जल गया है या कट गया है तो घाव पर केले को मसलकर लगा दें और पट्टी बांध दें | घाव की जलन भी कम हो जायेगी और घाव भी ठीक हो जायेगा |

नकसीर में
नकसीर के रोग में केले को मीठे दूध के साथ एक सप्ताह तक खाना चाहिए | नाक से खून बहना बंद हो जायेगा |

प्रदर रोग में
सुबह शाम दो केले घी के साथ खाने या खाना खाने के आधे घंटे बाद दो केले खाकर ऊपर से शहद मिला हुआ एक कप दूध पीने से प्रदर रोग ठीक हो जाता है |

पित्त रोग
पके हुए केले को घी के साथ खाने से पित्त रोग शांत हो जाता है |

सीने का दर्द
दो केले शहद में मिलाकर खाने से सीने के दर्द में लाभ होता है |

खून की कमी
सुबह रोजाना तीन केले खाकर ऊपर से मीठे दूध में इलायची डालकर पीने से खून की कमी दूर हो जाती है |

बाल झड़ना
यदि बाल झड रहे हों तो केले में नींबू का रस मिलाकर सिर की मालिश कुछ दिन तक करने से बालो का झड़ना रुक जायेगा |

बार बार पेशाब आना
यदि बार बार पेशाब आने की समस्या है तो पके हुए केले को आंवले के रस तथा शक्कर के साथ मिलाकर खाने से कुछ दिनों में ही लाभ मिलता है |

दस्त लगने पर
अगर बच्चो को दस्त लग जाये तो एक पके केले को एक कटोरी में घोट लें और मिश्री मिलाकर बच्चे को दिन में तीन बार खिलाएं | दस्त में लाभ होगा और कमजोरी भी नहीं आएगी | केले को जितनी बार खिलाना हो उसी समय बनाकर खिलाएं | पहले से रखा हुआ या कटा हुआ केला हानिकारक होता है |

सांस की बीमारी में
एक केले में चीरा लगाकर उसमे काली मिर्च का 3 – 4 ग्राम पावडर भर के रात भर राख दीजिये | सुबह इस केले को तवे पर देशी घी डाल कर सेक लीजिये | फिर खा लीजिये | 3 – 4 दिन तक लगातार खाने से सांस की बीमारी ख़त्म हो जाएगी |

शक्ति वर्धक
रोजाना एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच देशी घी , पिसी हुई इलायची तथा दो चम्मच शहद मिलाकर केले के साथ लेने से शरीर सुन्दर तथा बलशाली होता है | बल,  वीर्य, शुक्राणु तथा मस्तिष्क क्षमता बढती है |

दही में केला और पिसी हुई मिश्री मिलाकर खाने से मोटापा बढ़ता है |

यह भी पढ़ें >>  केला खाने से होने वाले लाभ


“आपको ये  लेख कैसा लगा , कृप्या कमेंट के माध्यम से  मुझे बताएं ………………………धन्यवाद”

“यदि आपके पास Hindi में  कोई  Article, Positive Thinking, Self Confidence, Personal Development या  Motivation से  related कोई  story या जानकारी है  जिसे आप  इस  Blog पर  Publish कराना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ  हमें  E-mail करें. हमारी E-mail Id है : gyanversha1@gmail.com.

पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. ………………धन्यवाद् !”

One thought on “केले के औषधीय गुण

  1. Pingback: केला खाने से होने वाले लाभ – Gyan Versha

Leave a Comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s