समस्याओं को नीचे रख दीजिये

2आजकल की इस व्यस्त और भागदौड़ भरी ज़िंदगी में चिंताएं, तनाव, समस्यायेँ लगभग सभी के साथ लगी रहती हैं | कोई भी ऐसा नहीं है जिसे किसी तरह की समस्या न हो | ज़्यादातर चिंताओं और तनाव का बोझ हम बिना मतलब ही ढोते रहते हैं | हम समस्याओं के समाधान के बारे में ना सोच कर ज़्यादातर समस्या के बारे में ही सोचते रहते हैं जिससे समस्याए और बढ़ जाती हैं | बार बार और लगातार समस्याओं के बारे में ज़्यादा देर तक या रोज़ाना ही सोचने से समस्या तो कम नहीं होगी उल्टे हम ही तनावग्रस्त हो जाते हैं | हमारा स्वस्थ्य ख़राब हो जाता हैं या हम मानसिक या शारीरिक रूप से अक्षम भी हो सकते हैं |

मैं आपके सामने एक छोटी सी लेकिन बहुत ही प्रेरणादायक कहानी पेश कर रहा हूँ जिससे आप समझ सकते हैं कि ज़्यादा देर तक समस्याओं को या तनाव को अपने दिमाग में रखने से हमारे स्वास्थ्य और ज़िंदगी पर क्या असर पड़ सकता हैं ?

Continue reading